Welcome To Gangrar

GANGRAR राजस्थान के चित्तौडगढ़ जिले स्थित यह गांव बहुत ही पुराना हे। गंगरार को सन्न 1946 में तहसील बनाया गया था। जो केवल रियासत कालीन थी। बाद में गंगरार को राशमी पंचायत समिति के अंतर्गत लिया था। बाद में 1986 में Gangrar पंचायत समिति का गठन किया गया। जिसमे 14 ग्राम पंचायते राशमी से व 5 चित्तौड़गढ़ से लेकर गंगरार पंचायत समिति बनाई गई। एवं उसके बाद 2 ग्राम पंचायत का नए सिरे से गठन किया गया। वर्तमान में गंगरार में 21 ग्राम पंचायते हे। सन 2002 से पहले सहायक कलेक्टर न्यायालय चित्तौड़गढ़ था। उसके बाद गंगरार में न्यायालय खुला जिसका उद्घाटन तत्कालीन राजस्व मंत्री डॉ कमला बेनीवाल द्वारा किया गया । उसके बाद उपखण्ड अधिकारी न्यायालय का उद्घाटन हुआ। पहले गंगरार क्षेत्र राशमी विधानसभा क्षेत्र में आता था। लेकिन बाद में इसे बेंगु विधानसभा क्षेत्र में विलय कर दिया गया। यहा पर उपखण्ड, तहसील, उपकोष, वृताधिकारी, एवं पंचायत समिति सहित उपखण्ड के लगभग सभी कार्यालय स्थित है। यह गांव चित्तौडगढ़ से उत्तर में 25 किलोमीटर की दुरी पर हे। और भीलवाड़ा से दक्षिण में 35 किलोमीटर पर हे। और इस गांव से भारत का नेशनल हाइवे 79 गुजरता हे जो राजस्थान के अजमेर जिले से मध्यप्रदेश के इन्दौर जिले को जोड़ता हे। इस मार्ग पर दिल्ली, मुंबई, जयपुर, जोधपुर, अहमदाबाद, सूरत, और सम्पूर्ण भारत के वाहन यहां से गुजरते है। Gangrar का प्राचीन नाम रामगढ़ था Gangrar तहसील में लगभग 131 गांव हे। एवं Gangrar Pin Code 312901, SBI IFSC Code SBIN0031244 व STD Code 01471 है


Gangrar History In Hindi गंगरार एक बहुत ही सुन्दर गांव हे। गंगरार के चारो और अरावली पर्वत माला के सहायक पहाड़ो का एक समूह सा है जो गंगरार को और भी आकर्षित बनाता हे। गंगरार गांव के बिच में पुराणी हवेली हे जहा पर पहले तहसील कार्यालय होता था। यह हवेली राव साहब की हे जो पहले यहां रहा करते थे और आसपास के क्षेत्र में शिकार किया करते थे गंगरार तहसील में 131 छोटे बड़े गांव आते हे। एवं गंगरार गांव में सभी जाति धर्म के लोग निवास करते हे। गंगरार में बहुत से मंदिर हे जिनमे प्रमुख पूर्व में पहाड़ पर स्थित स्वयं प्रकट बालाजी जी का मंदिर हे। और इसके आलावा सारणेश्वर महादेव जी का मंदिर, चारभुजाजी का मंदिर, गणेश मंदिर, लक्ष्मीनारायण मंदिर, भेरुनाथ का मंदिर, आदि हे। और गांव में मस्जिद भी स्थित हे।



गंगरार में पुराना बाजार भी हे जहा आसपास के लोग खरीददारी करने आते हे। गंगरार में हर वस्तु उपलब्ध हे। गंगरार में पंचायत समिति, तहसील, पुलिस थाना, डाकघर, हॉस्पिटल सभी गांव में ही हे। गंगरार में सरकारी व प्राइवेट स्कूल भी है। गंगरार गांव से १.५ किलोमीटर दूर गंगरार रेल्वे स्टैशन है जहां से दिन भर में अनेक रेल गाड़िया निकलती हे यहां से भीलवाड़ा, अजमेर, जयपुर, दिल्ली और रतलाम, उज्जैन, मुंबई, अहमदाबाद, एवं समस्त भारत की रेल गाड़ी यहां से गुजरती है। गंगरार स्टेशन पर बड़े पैमाने पर जूते, मोचड़ी, और तलवारे बनाने का काम होता हे यहा के गुजराती मोची मार्केट ने पुरे देश में अपनी पहचान बना रखी है यहां पर हाथो से बने जूते, चप्पल,मोचड़ी, व् तलवारे मिलती है। और दिन भर नेशनल हाईवे व्यस्त रहता है। जिससे यहां पर दुर्घटना की संभावना बनी रहती है

गंगरार की प्रमुख जानकारी

  • Gangrar Ki Jankari
  • Gangrar Near City
  • गंगरार Education
  • Gangrar Population

GANGRAR

अजमेर - इंदौर NH 79 पर चित्तौड़गढ़ और भीलवाड़ा दोनों शहरों के बीच बसा गांव है GANGRAR

  • पूर्व दिशा में कोटा 180 K.M की दुरी पर है
  • पश्चिम दिशा में राजसमंद 110 K.M की दुरी पर है
  • उत्तर दिशा में भीलवाड़ा 35 K.M. की दुरी पर है
  • दक्षिण दिशा में चित्तौडग़ढ़ 25 K.M. की दुरी पर है
Important Information of Gangrar

MAIN VIEW OF THE CHITTORGARH DISTRICT OF GANGRAR

गढ़ तो चित्तौड़ बाकी सब गढ़ैया


चित्तौड़गढ़ किले को चित्रांगद मौर्य ने बनवाया था । चित्तौडग़ढ़ का नाम आन बान और शान के लिए जाना जाता है। और भक्त मीरा बाई एवं महाराणा प्रताप जैसे वीर योद्धा के नाम से भी जाना जाता है चित्तौडगढ़ मेवाड़ की प्रथम राजधानी भी है

Photo gallery

गंगरार व Gangrar के आसपास देखने योग्य स्थान

  • Charbhuja ji
  • Gangrar Images
  • Lakshmi Nath Mandir
  • Sarneshwar Mahadev Ji Gangrar
  • Mewar Ka haridwar
  • Panchmukhi Balaji Gangrar
  • Chittorgarh Fort

Rahul Galav

Website Owner

Hello friends, I'm Rahul from Gangrar and now I live in Udaipur. Gangrar.com Website is Provide All Information About Gangrar And Gangrar's Near Beautiful Place of Surrounding Information About Villages Within Block etc.

GANGRAR

We have written the following post